योगी की मंत्री को हरिजन शब्द का प्रयोग पड़ा भारी

खबरे बहुजन आवाज राजनीति

उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद में डॉ अम्बेडकर के जन्मोत्सव समारोह में उत्तरप्रदेश सरकार की एक मंत्री को ‘हरिजन’ शब्द का प्रयोग करना भारी पड़ा। मंत्री द्वारा किये गए इस आपत्तिजनक शब्द के कारण सभा में उपस्थित लोग भड़क गए और विरोध के चलते मंत्री को कार्यक्रम बीच में छोड़ कर जाना पड़ा।

घटना मुरादाबाद में सिविल लाइन स्थित अम्बेडकर पार्क की है जहा अम्बेडकर जयंती के अवसर पर आयोजित एक समारोह में उत्तरप्रदेश सरकार में सामाजिक कल्याण और एससी एसटी विभाग मंत्री गुलाब देवी को बतौर मुख्य अतिथि बुलाया गया था।

जब मंत्री महोदया को मंच पर बोलने के लिए बुलाया गया तो उन्होंने भाषण के शुरुवात में तो भारत रत्न बाबा साहेब के संदेशो को बताया पर उसके बाद सभा में मौजूद लोगो को देवी, देवता और भगवान राम, गाय माता में अपनी आस्था की बाते बताने लगी। पर सभा में उपस्थित लोग तब भड़क गए जब मंत्री गुलाब देवी ने दलितों के लिए हरिजन शब्द का प्रयोग किया। मंत्री द्वारा किये गए इस आपत्तिजनक शब्द के सबसे पहले मंच पर ही बैठे लेखक और रिटायर्ड वैज्ञानिक डॉ डी बी एस सेहरा ने किया। इसके बाद कार्यक्रम में मौजूद अन्य लोगों ने भी आपत्ति जताई और हंगामा करना शुरू कर दिया।

मंत्री महोदया को जब अपनी गलती का अंदाजा हुआ तो उन्होंने अपनी सफाई देते हुए कहा कि “मैं साफ कर दूं कि मैं भी एक हरिजन की बेटी हूं। मैंने कुछ भी असंवैधानिक या आपत्तिजनक नहीं कहा था।” पर भीड़ ने मंत्री की एक नहीं सुनी और अपना विरोध जारी रखा, जिसके चलते मंत्री को बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा और मंच से उतर कर चली गयी।

बता दें ‘हरिजन’ शब्द महात्मा गांधी ने दिया था जिस पर खुद बाबा साहेब को आपत्ति थी। गौरतलब है कि 10 अप्रैल को गृह मंत्रालय ने सरकारी दस्तावेजों व कार्यव्यवहार में अनुसूचित जाति के लिए दलित शब्द का प्रयोग न करने के निर्देश जारी किए हैं। मंत्रालय ने ये निर्देश देश की सभी राज्य सरकारों, केंद्र शासित प्रदेशों के अलावा केंद्र सरकार के सभी विभागों को भेजा गया है।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *