भीम आर्मी के समर्थन में सैकड़ों महिलाओं ने जुलूस निकाला

खबरे बहुजन अधिकार बहुजन आवाज

उत्तरप्रदेश के शब्बीरपुर की जातीय हिंसा में जेल भेजे गए दलितों की रिहाई और उन पर दर्ज फर्जी मुकदमे वापस लेने की मांग तेज हो गई है। मंगलवार (23 मई ) को भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद की मां कमलेश के साथ सैकड़ों महिलाओं ने शहर में जुलूस निकालकर पुलिस-प्रशासन और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

महिलाएं अंबेडकरपुरम् स्थित बामियान बुद्ध विहार में एकत्र हुईं। यहाँ महिलाओ ने योगी सरकार हाय हाय के नारे लगाए ,साथ ही भगवा आंतकबाद बंद करो और भारत को आरएसएस मुक्त करो के नारे लगे।

साथ ही वहा एकत्र महिलाओ ने कहा कि शब्बीरपुर घटना की सीबीआई जाँच होनी चाहिए। दिल्ली रोड से होते हुए कलक्ट्रेट तिराहे पहुंचकर इन महिलाओं ने जोरदार प्रदर्शन किया। महिलाओं का समूह को डीएम आफिस की ओर बढ़ने से रोक दिया गया नाराज महिलाएं धरने पर बैठ गईं। उन्होंने कहा कि अगर रिहाई जल्द न हुईं तो भीम आर्मी के साथ मिलकर जेल भरो आंदोलन चलाया जाएगा।

गुस्साई महिलाओं ने पुलिस-प्रशासन को भी ललकारा। उन्होंने कहा कि निर्दोष दलित युवाओं पर गंभीर धाराओं में दर्ज मुकदमे वापस लिए जाएं। दलितों के घर आगजनी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। उन्होंने यह भी कहा कि भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद पर लगाए मुकदमे वापस लिए जाएं।

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद की मां कमलेश कहती है कि वो अपनी तीन संतानों को समाज के लिए समर्पित कर दिया है। समाज पर कतई अत्याचार नहीं होने दिया जाएगा। इसके लिए चाहे जो कुर्बानी देनी पड़े।

महिलाओं ने चेतावनी दी कि यदि शासन-प्रशासन से न्याय नहीं मिला तो देश भर में दलित समाज आंदोलन को बाध्य होगा साथ ही महिलाओ ने धर्म परिवर्तन की चेतावनी देते हुए भीम आर्मी के साथ सड़कों पर उतर कर जेल भरो आंदोलन क भी चेतावनी दी।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *