उत्तरप्रदेश में वाल्मीकि समाज पर हो रहे है अत्याचार,पुलिस है खमोश

खबरे जातिवाद

आज़ादी के 70 साल के बाद भी हमारे देश में दलितों, गरीबो और आदिवासियों को जो हक़ मिलना चाहिए था वो आज तक नहीं मिला। आज भी हमारा समाज छुआछूत की बीमारी से ग्रस्त है।

उत्तरप्रदेश के आगरा में वाल्मीकि समाज के लोगों को छुआछूत के कारण पानी नहीं भरने दिया जा रहा है। यह घटना आगरा के पिनाहट के गांव सिकतरा में वाल्मीकि समाज के लोगों को छुआछूत के कारण पानी नहीं भरने दिया जा रहा है। इस मामले में ज​ब थानाध्यक्ष पिनाहट से शिकायत की गई, तो वो भी सुनवाई नहीं कर रहे हैं। जब वाल्मीकि समाज के लोगो ने अपनी आवाज़ उठाई और विश्व वाल्मीकि धर्म परिषद के अध्यक्ष विवेक प्रकाश के साथ आईजी से मिले हैं तब प्रशासन ने भरोसा दिलाया की वो कार्यवाई करेगी।

वही विवेक प्रकाश का कहना है कि वाल्मीकि समाज के लोगों का जीना दुश्वार कर दिया गया है। यह पहली घटना नहीं है जो वाल्मीकि समाज के साथ हो रहा है ऐसे कई घटना है जो आए दिन होते रहते है।

सिकतरा गांव में पानी नहीं भरने दिया जहा रहा है, तो दूसरा मामला ​मौहल्ला बावन टोला का है, जहां जोशी समाज का दीपा और उसके भाई वाल्मीकि समाज की लड़की के साथ छेड़खानी करते हैं। थाने में इस मामले में एफआईआर तो दर्ज कर ली गई, लेकिन पुलिस आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

विवेक प्रकाश कहते है तीसरा मामला और भी गंभीर
तीसरे मामले मेें आरोप लगाया है कि पिढौरा में वाल्मीकि समाज के लोगों का ठाकुर समाज के लोगों ने घर से ना निकलने काा फरमान जारी कर दिया है। विवेक प्रकाश ने आईजी कार्यालय में दिए प्रार्थना पत्र में सीओ पिनाहट पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जब वे उनसे मिले, तो उल्टा उन पर ही मुकदमा दर्ज कर दिया गया। विवेक प्रकाश ने बताया कि एसओ बृजेश सिंह ठाकुर होने के नाते ठाकुरों का पक्ष ले रहे हैं, वहीं सीओ मोहसीन भी अपराधियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैंं।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *