विदेशो में NRI कैसे फैलाते है जातिवाद

तीन दशक से भी ज्यादा अमेरिका में रहकर दलित अधिकारों के लिए लड़ने वाले योगेश वरहदे बताते है कि कैसे विदेशो में रहने के बावजूद मनुवादी NRI लोग जाति का पीछा नहीं छोड़ते है। 

Continue Reading

क्यों डॉ भीम राव अम्बेडकर 1956 की दीक्षा समारोह में गोपनीय तरीके से आए

तीन दशक से भी ज्यादा अमेरिका में रहकर दलित अधिकारों के लिए लड़ने वाले योगेश वरहदे बताते है कि जब वे सिर्फ 13 साल की उम्र में थे तो उन्होंने बाबा साहेब का ऑटोग्राफ लेने के लिए नागपुर में उनके होटल के बाहर 5 घंटे इंतज़ार किया। और जब बाबा साहेब ने इस छोटे से […]

Continue Reading