राष्ट्रपति चुनाव – बिहार में महागठबंधन पर मंडराए खतरे के बादल

खबरे राजनीति

राष्ट्रपति पद के लिए बीजेपी उम्मीजदवार रामनाथ कोविंद को अब  जनता दल (यूनाइटेड) का भी समर्थन हासिल हो गया है।  जनता दल (यूनाइटेड) के विधायक रत्नेश सदा ने बुधवार को पटना में संवाददाताओं से कहा कि  राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद का हम समर्थन करेगे ,रत्नेश सदा ने कहा कि पार्टी के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने भी अपनी मंशा पहले  ही जाहिर कर दी थी।  विधायक सदा का कहना है कि “बिहार का कोई राज्यपाल पहली बार राष्ट्रपति बनने जा रहा है। ऐसे में यह हमारे लिए गर्व की बात है और हम रामनाथ कोविंद के साथ हैं।”

  यह भी पढ़े   दलित राष्ट्रपति : बहुजन समाज के नेताओं के नाम खुला खत…..

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 17 जुलाई को मतदान होना है। नतीजा 20 जुलाई को घोषित होगा। ऐसे में यह अनुमान लगे जा रहा है कि राष्ट्रपति चुनाव के बाद दो राज्यों में सरकार चलना मुश्किल हो जाएगा। राष्ट्रपति चुनावों के बाद, तमिलनाडु में एआईएडीएमके सरकार और बिहार में जेडीयू सरकार अपदस्थल हो सकती है। अब नितीश कुमार भाजपा के साथ आ गई है तो ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे है कि  बिहार में जेडीयू और उसके सहयोगी के बीच दरार देखने को मिल सकती है और फिर नीतीश के लिए बिहार सीएम बने रह पाना और मुश्किल हो सकता है।

  यह भी पढ़े   सुशील मोदी ने साधा नीतीश सरकार पर निशाना

वही सूत्रों से खबर आ रही थी कि जिस दिन बीजेपी संसदीय दल की बैठक में कोविंद का नाम घोषित किया गया था, उसी दिन अमित शाह ने कोविंद को फोन कर इशारा कर दिया था कि वह नीतीश कुमार को उनके समर्थन के लिए संदेश भिजवाएं। जिसके बाद अरुण जेटली (राष्ट्रपति  चुनावों के लिए सर्वसम्मनति हासिल करने हेतु बनी तीन-सदस्यी य कमेटी के सदस्य) ने नीतीश कुमार से बात की। उसके बाद से बीजेपी का शीर्ष नेतृत्वम यह मान रहा था कि नीतीश साथ आ गए हैं, और बुधवार नितीश कुमार ने यह पुष्टि भी कर दी की वो अपना समर्थन रामनाथ कोविंद को ही देंगे।

वही दूसरी तरफ से यह भी खबर आ रही है कि तमिलनाडु में एआईएडीएमके भी एनडीए उम्मीनदवार को अपना समर्थन दे सकती है। बीजेपी नेता सुब्रमण्याम स्वाइमी ने बुधवार को कहा कि ‘शशिकला उस पार्टी की संचालिका हैं और  एआईएडीएमके की उत्ताराधिकारी हैं और मुझे यकीन है वे हमारे पक्ष में फैसला करेंगी।’

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *