उत्तर प्रदेश में एक पंचायत ने बढ़ते अपराध को रोकने के लिए राह चलती लड़की के फ़ोन पर बात करने पर 21 हजार का जुर्माना

खबरे लैंगिक असमानता समाज

उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक ग्राम पंचायत ने तुग़लकी फरमान सुनाते हुए राह चलती लड़की के फ़ोन पर बात करने पर पाबन्दी लगायी है और इस फरमान का उलंघन करने पर 21 हज़ार रूपये का जुर्माना भी तय किया है। गोवर्धन क्षेत्र के मडोरा गांव की पंचायत का ये अनोखा तुग़लकी फरमान अपराध को कम करने के लिए लिया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, मडोरा गांव में बढ़ते अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए पंचायत बुलाई गई थी। पंचायत में शामिल हुए ग्रामीणों ने अपनी बात रखते हुए जैसा अपराध वैसी सजा देने की पैरवी की। इसके साथ ही पंचायत ने यह भी फैसला लिया कि अगर कोई लड़की राह चलते हुए फोन पर बात करती हुई मिली तो उस पर 21 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। इसके साथ ही पंचायत ने शराब पीकर परेशान करने, जुआ खेलने, ठगी और गोकशी आदि से जुड़े मामलों में 11 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक जुर्माना लगाए जाने का फैसला लिया। मडोरा के ग्राम प्रधान उस्मान ने बताया कि किसी भी अपराध की जांच के लिए अलग-अलग समितियां गठित की जाएंगी।

हमारा समाज लड़कियों पर हमेशा से पाबंदी लगाता आ रहा है। कभी लड़कियों को उनके कपड़ो को लेकर टोका जाता है तो कभी उनके बात करने के तरीको को लेकर। लेकिन उत्तरप्रदेश की एक पंचायत ने तो लड़कियों के फ़ोन पर बात करने पर ही पाबंदी लगा दी है। सारा दोष लड़कियों को ही दिया जाता है शायद पंचायत की नज़र में राह चलते लड़कियों का फ़ोन पर बात करना भी एक अपराध है।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *