पंजाब में सवर्णो ने दलितों की जमीन पर कब्जा करने के बाद लगाया चोरी का आरोप

खबरे जातिवाद

पंजाब के लौंगोवाल में मंडेर कलां के दलितों ने पुलिस थाना लौंगोवाल के सामने धरने पर बैठे है। यह धरना दलितों ने जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी की अगुवाई में किया गया है। दलितों ने मांग की कि दलितों की जमीन पर कब्जा करने वाले सवर्णों के खिलाफ कार्रवाई की जाए.

यह घटना पंजाब के लौंगोवाल गांव मंडेर की है। जहां दलित परिवारों को पंचायती जमीन ठेके पर मिली हुई है. इस जमीन से लोग-आते जाते भी है. लेकिन सवर्णों को दलितों को जमीन मिलना और दलितों का आना-जाना नगवार लगा जिसके कारण उन्हें इस जमीन पर कब्जा कर लिया. दलितों ने जब इसका विरोध किया तो सवर्ण जाति के लोगों ने दो दलितों के खिलाफ चोरी का झूठा केस दर्ज करवा दिया. दलितों ने थाने के सामने प्रदर्शन करते हुए दलितों पर लगे इस झूठे आरोप को भी हटाने की मांग की.

यह भी पढ़े   भाटला गांव में दलितों के सामाजिक बहिष्कार में पुलिस भी शामिल – एडवोकेट रजत कल्सन

मीडिया खबरों के अनुसार जमीन प्राप्ति संघर्ष कमेटी के जिला नेता बलविंदर सिंह जलूर प्रिथी लौंगोवाल ने कहा कि दलित परिवारों ने रिजर्व पंचायती जमीन ठेके पर ली है। इस जमीन को जो रास्ता लगता है उस पर कुछ लोगों ने नाजायज कब्जा करके अपनी जमीन में मिला लिया है। पहले भी इस रास्ते पर कब्जा किया गया था लेकिन पुलिस ने कब्जा छुड़वा दिया था। अब दोबारा कब्जा कर लिया है। जब भी दलित परिवारों की महिलाएं जमीन से हरा चारा लेने जाती हैं तो उनके साथ हाथापाई की जाती है जातिसूचक शब्द बोलकर जलील किया जाता है।

कुछ दिन पहले इस घटना को लेकर लड़ाई झगड़ा भी हुआ था अस्पताल में महिलाओं ने पुलिस के पास बयान भी दिया था। मामला प्रशासन के ध्यान में भी लाया गया था लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने बताया कि जमीन को जाते रास्ते पर खेतीबाड़ी औजार पड़े थे, जिन्हें दलित व्यक्तियों ने हटा दिया था लेकिन दो दलित व्यक्तियों पर खेतीबाड़ी औजार चोरी करने के आरोप में झूठा केस दर्ज कर दिया गया है। जिस कारण दलित परिवारों में इस बेइंसाफी के खिलाफ भारी रोष है। यह खेतीबाड़ी औजार पुलिस थाने में ही पड़े हैं।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *