बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने जदयू से दिया इस्तीफा

खबरे राजनीति

बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी ने  जदयू की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। चौधरी ने मीडिया  से बातचीत में कहा, ‘‘ मैं जदयू में 20 साल से था। जदयू को  सींचने और बनाने में हमारी अहम भूमिका रही है लेकिन आज जदयू के कार्यकर्ताओं के मनोबल को कुचलकर धनकुबेरों को आगे बढ़ाया जा रहा है और प्राथमिकता दी जा रही है।

जदयू  नारायण चौधरी ने कहा कि दलितों के अधिकार को कुचला जा रहा है । महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं बढ़ गयी हैं। हाल ही में जहानाबाद की घटना देखने को मिली है।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘ इसके साथ ही दलित छात्रों की छात्रवृत्ति बंद कर दी गयी और दलित उत्पीड़न अधिनियम में बारे में सरकार चुप है।

बाबासाहेब के संघर्ष से बहुजन समाज की जो तरक्की हुई है वो मनुवादी लोगो को हज़म नहीं होता

प्रोन्नति में आरक्षण (दलितों को) को समाप्त कर दिया गया है जिससे दलित समुदाय के कर्मी प्रोन्नति के मामले में पिछड़ गए हैं। न्यायपालिका में आरक्षण नहीं है, इस पर सरकार कुछ नहीं बोल रही है। इन सभी कारणों से मैं इतना आहत हूं कि आज और अभी से जदयू की प्राथमिक सदस्यता छोड़ता हूं।’’

 चौधरी ने कहा  आज से चार-पांच महीने पहले कई बार  हमने अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की लेकिन उन्होंने कोई पहल नहीं की।

साथ ही उदय नारायण चौधरी ने आरोप लगाते हुए कहा कि हमने पार्टी के किसी भी बैठक में नहीं बुलाया गया। मेरी आवश्यकता वह नहीं समझते इसलिए जदयू से इस्तीफा देता हूं।’’ चौधरी ने दावा किया जदयू से और भी लोग निकलने वाले हैं।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *