मोदीराज में किसानो के साथ हो रही है वादाखिलाफी

अहमदाबाद में फाइनेंस के प्रोफेसर हेमंत शाह का मानना है कि मोदीराज में किसानो के साथ वादाखिलाफी हो रही है। उनको मोदी सरकार ने फसल की लागत के दुगने दाम का वायदा किया था पर आज कांग्रेस के समय मिलने वाले दाम से भी कम दाम मिल रहा है।

Continue Reading

वामपंथियों का दलित प्रेम: 53 सालो से पोलित ब्यूरो में एक भी दलित नहीं

पिछले हफ्ते ही भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने पार्टी की 22वीं कांग्रेस के मौके पर 17 सदस्यीय नए पोलित ब्यूरो को चयन किया। पार्टी ने अगले तीन साल के लिए सीताराम येचुरी को फिर से अपना महासचिव निर्वाचित किया। खबरों में पार्टी की 22वीं कांग्रेस के दौरान येचुरी गुट और पूर्व महासचिव प्रकाश करात गुट […]

Continue Reading

योगी सरकार द्वारा अति-पिछड़ी जातियों को अनुसूचित-जातियों में शामिल करने का प्रयास असंवैधानिक – दारापुरी

“भाजपा का उत्तर प्रदेश की 17 अति-पिछड़ी जातियों को अनुसूचित-जातियों की सूची में शामिल कराने का प्रयास असंवैधानिक” – यह बात एस आर दारापुरी, पूर्व पुलिस महानिरीक्षक एवं संयोजक, जन मंच उत्तर प्रदेश ने प्रेस को जारी ब्यान में कही है. उन्होंने कहा है कि आज एक समाचार पत्र के माध्यम से ज्ञात हुआ है […]

Continue Reading

जज लोया की मौत पर सुप्रीम कोर्ट ने स्वतंत्र जाँच की मांग ठुकराई, प्रशांत भूषण ने कहा आज है न्याय के लिए काला दिवस

अमित शाह पर केस की सुनवाई कर रहे सीबीआई के विशेष जज बीएच लोया की रहस्यमयी मौत के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने स्वतंत्र जाँच की मांग के लिए दायर याचिका को ठुकरा दिया है और साथ ही याचकाकर्ताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि याचिका में खड़े जज लोया की मौत पर किये गए […]

Continue Reading

योगी ने दलित मित्र अवार्ड का कर्ज चुकाया, लालजी निर्मल को दिया सरकारी पद

दलित समाज के विरोध के बावजूद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दलित मित्र अवार्ड देने से सुर्खियों में आये अम्बेडकर महासभा के अध्यक्ष लालजी प्रसाद निर्मल को योगी आदित्यनाथ ने रिटर्न गिफ्ट देने का फैसला किया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने लालजी निर्मल को उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम में अध्यक्ष […]

Continue Reading

सत्ता के गलियारों से बहुजन गायब; केंद्र में तैनात 81 सचिवो में सिर्फ 5 एससी-एसटी और शून्य औबीसी

एक आरटीआई से पता चला है कि केंद्र सरकार में तैनात 81 सचिव स्तर के अधिकारियो में सिर्फ दो अनुसूचित जाति और तीन अनुसूचित जनजाति वर्ग से आते है। वहीँ 75 एडिशनल सचिव स्तर के अधिकारियो की लिस्ट में सिर्फ 6 अनुसूचित जाति और 4 अनुसूचित जनजाति के अधिकारियो के नाम है। सबसे हैरान करने […]

Continue Reading

पढ़िये कितना दिलचस्प और प्रेरणादायी था अम्बेडकर का भारतीय राजनीति में आगाज़

अम्बेडकर का भारतीय राजनीति में प्रवेश बेहद दिलचस्प और प्रेरणादायी है । यह किस्सा शुरू होता है ज्योतिबा के निधन के बाद । ज्योतिबा के निधन के बाद उनके द्वारा स्थापित ‘सत्यशोधक समाज’ महाराष्ट्र का प्रमुख समाज सुधारक संगठन था । लेकिन 1906 में ऊंची जाति के विठ्ठल रामजी शिंदे ने ‘ डिप्रेस्ड क्लासेज मिशन […]

Continue Reading

फिर भी मैंने घोड़ों को घर भेज दिया था मां – आसिफा

मां घोड़े घर पहुंच गये होंगे मैंने उन्हें रवाना कर दिया था उन्होंने घर का रास्ता ढूंढ लिया ना मां लेकिन मैं खुद आ न सकी तुम अक्सर मुझे कहा करती आसिफ़ा इतना तेज़ न दौड़ा कर तुम सोचती मैं हिरनी जैसी हूं मां लेकिन तब मेरे पैर जवाब दे गये फिर भी मैंने घोड़ों […]

Continue Reading

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट स्किल इंडिया सिर्फ कागजो पर सिमटा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट स्किल इंडिया सिर्फ कागजो पर ही सिमट कर रह गया है। स्किल इंडिया अभियान के शुरुवाती दौर में ही अपना दम तोड़ती नज़र आ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के युवाओं में कौशल विकास करने, उन्हें हुनरमंद बनाने और उनके स्वरोजगार के लिए स्किल इंडिया की शुरुआत […]

Continue Reading

‘एक देश, एक बाजार, एक कर’ सही तो ‘एक देश, एक जाति’ कैसे गलत ?

30 जून और 1 जुलाई के बीच मध्य रात्रि से गुड्स एंड सर्विस टैक्स यानि कि वस्तु एवं सेवा कर कानून को पूरे देश में लागू कर दिया गया है। वस्तु एवं सेवा कर को लगाए जाने की कयास करीब 15 वर्षों से की जा रही है लेकिन सत्ता की सफारी पर सवार केंद्र एवं […]

Continue Reading