भीम आर्मी के चंद्रशेखर ” रावण” पर जेल में हुआ हमला

खबरे बहुजन आवाज

भीम आर्मी का संस्थापक चंद्रशेखर आज़ाद ” रावण” पर जेल में जानलेवा हमला किया गया है। इस खबर के बाद भीम आर्मी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने गुरुवार (27जुलाई )को जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया लोगों ने जेलर पर भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण पर कातिलाना हमला कराने का आरोप लगाया।

जनसंघर्ष की टीम से फ़ोन पर बात करते हुए “राष्ट्रीय शोषित परिसद ” के अध्क्षय और भीम आर्मी के मुख्य संरक्षक  जय भगवान जाटव ने बताया की बुधवार
( 25 जुलाई ) को जेल में चंदशेखर आज़ाद “रावण ” पर ठाकुर कैदी द्वारा जानलेवा हमला किया इस हमले में चंद्रशेखर आज़ाद “रावण “को चोटे आयी है।

भीम आर्मी के मुख्य संरक्षक जय भगवान जाटव ने बताया की कमल वालिया की माँ जेल में अपने बेटे से मिलने गईं थीं तब कमल वालिया ने अधिकारियों द्वारा किए गए उत्पीड़न की जानकारी दी साथ ही चंदशेखर आज़ाद “रावण” पर जान लेवा हमले की जानकारी दी।

 यह भी पढ़े    जिस दिन आपको लगे की चंदरशेखर अपने कौम से गद्दारी कर रहा है उस दिन मुझे गोली मार देना

भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने जेलर राजीव कुमार मिश्रा पर चंद्रशेखर उर्फ रावण को पिटवाने का आरोप लगाया। जेल की बैरक नंबर नौ में कैद रावण पर 25 जुलाई को दो बार कातिलाना हमला कराया। जेलर रावण के साथ-साथ जिलाध्यक्ष कमल वालिया व भीम आर्मी के अन्य कार्यकर्ताओं को जानबूझ कर प्रताड़ित कर रहे हैं।

भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करवा कर जेलर के खिलाफ कार्रवाई कराने की मांग करते हुए सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा। भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने जेलर राजीव कुमार मिश्रा पर चंद्रशेखर उर्फ रावण को पिटवाने का आरोप लगाया। जेल की बैरक नंबर नौ में कैद रावण पर 25 जुलाई को दो बार कातिलाना हमला कराया। जेलर रावण के साथ-साथ जिलाध्यक्ष कमल वालिया व भीम आर्मी के अन्य कार्यकर्ताओं को जानबूझ कर प्रताड़ित कर रहे हैं।

वही जेलर राजीव कुमार मिश्रा का कहना है कि जेल में बंद चंद्रशेखर रावण व कमल वालिया को प्रताड़ित करने के आरोप बेबुनियाद हैं। वरिष्ठ जेल अधीक्षक वीरेशराज शर्मा ने बताया कि भीम आर्मी के प्रदर्शन की बात जब जेल में बंद चंद्रशेखर उर्फ रावण को लगी तो उसने लिखित में जेलर को दिया है कि जेल के अंदर उसके साथ किसी भी तरह की मारपीट या अभद्रता नहीं हुई है।

 यह भी पढ़े   जब दलित युवा मूंछे खड़ी करके बुल्लट पर चलते है तो मनु का कलेजा कांपता है: चंद्रभान प्रसाद

वही जेल अधीक्षक डा. वीरेश शर्मा का कहना है कि जेल में चंद्रशेखर एकांत बैरक में रहता है। वहां कोई आता-जाता नहीं है। ये गलत आरोप लगाए जा रहे हैं।

दलित छात्र नेता सुबोध कुमार, सचिन एडवोकेट और मंगल सिंह गौतम ने कहा कि जल्द ही रावण की रिहाई की मांग लेकर एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से से मिलेंगे ।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *