06 जून जनसंघर्ष न्यूज़ बुलटेन – खबरे जो करे आपका दिन शुरू

खबरे राजनीति

एससी-एसटी कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, जारी रहेगा प्रमोशन में आरक्षण

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को कानून के मुताबिक सरकारी नौकरी में प्रमोशन में आरक्षण जारी रखने की अनुमति दी है जब तक इस मुद्दे पर संवैधानिक पीठ में सुनवाई पूरी नहीं हो जाती। हालांकि पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने इस मुद्दे पर फैसला दिया था कि पांच जजों की संविधान पीठ मामले की सुनवाई करेगी। इससे पहले विभिन्न हाईकोर्ट ने नौकरी में पदोन्नति में आरक्षण को रद्द करने का आदेश दिया था। क्योंकि उनके अपर्याप्त प्रतिनिधत्व के बारे में आंकड़े उपलब्ध नहीं हैं। जिसके बाद कई राज्य सरकारों ने हाईकोर्ट के पदोन्नति में आरक्षण रद्द करने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। एससी/एसटी संघों और राज्य सरकारों ने दलील दी कि क्रीमी लेयर को बाहर रखने का नियम एससी/एसटी पर लागू नहीं होता और सरकारी नौकरी में प्रमोशन दिया जाना चाहिए क्योंकि यह संवैधानिक जरूरत है।
Source- Amarujala

आरएसएस ने मुख्यालय में नहीं दी इफ्तार की इजाजत, मुस्लिम नेता भड़के

राष्ट्रीय मुस्लिम मंच की महाराष्ट्र इकाई के संयोजक मोहम्मद फारूक शेख ने नागपुर के स्मृति मंदिर के प्रांगण में इफ्तार का आयोजन करने का आग्रह किया था। आरएसएस और राष्ट्रीय मुस्लिम मंच ने उनके इस आग्रह को ठुकरा दिया।आरएसएस ने साफ़ तौर पर कहा है कि  नागपुर के स्मृति मंदिर में इफ्तार का आयोजन नहीं किया जाएगा  – Source-Jansatta

मांगें पूरी नहीं हुई तो 10 जून को भारत बंद: राष्ट्रीय किसान महासंघ

राष्ट्रीय किसान महासंघ ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर साफ कर दिया है कि अगर सरकार ने हमारी मांगें नहीं मानी तो यह आंदोलन और भी तेज होगा. लेकिन हम लोग 10 तारीख तक इसका इंतजार करेंगे.
किसान नेता शिवकुमार कक्का ने साफ किया है कि हम लोग 9 जून को भूख हड़ताल करेंगे. 10 जून तक मांगें ना पूरी होने पर राष्ट्रपति को ज्ञापन देंगे. बीजेपी की शव यात्रा भी निकालेंगे. 6 जून को देशभर में राष्ट्रीय किसान महासंघ के मंदसौर की घटना पर श्रद्धांजलि समारोह होगा. 7 जून को किसान संगठन सरकारी अस्पताल में फ्री दूध बाटेंगे. 8 जून को मंदसौर में श्रद्धांजलि समारोह में यशवंत सिन्हा, शत्रुघ्न सिन्हा और प्रवीण तोगड़िया शामिल होंगे Source-AajTak

कानपुर की गंगा पर अब तक खर्च हुए 500 करोड़, फिर भी हालात सबके सामने

यूपी के कानपुर में गंगा को प्रदूषण मुक्त करने के नाम पर अभी तक 500 करोड़ की राशि खर्च हो चुकी है। इससे कुछ अधिक धनराशि से कई दूसरी योजनाएं आने वाले समय में शुरू भी होनी हैं। इतना खर्च होने के बाद अभी तक गंगा में गिरने वाले नाले सीसामऊ के एक हिस्से को गंगा में गिरने से रोका जा सका है। इसके पूरा होने में दिसंबर तक का समय लगने की बात कही जा रही है।
सीसामऊ नाले के सीवरेज कचरे को गंगा के बजाए ट्रीटमेंट प्लांट में मोड़ने के लिए नमामि गंगे परियोजना के तहत 63 करोड़ का बजट जारी किया गया है। इसी तरह शहर के 34 वार्डोँ में सीवर लाइन बिछाने के लिए 370 करोड़ का बजट दिया गया है। यह कार्य भी नमामि गंगे योजना के तहत हो रहा है। Source- Amarujala


 

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *